16.1 C
New Delhi
Tuesday, February 27, 2024
होमदेश-विदेशनेशनल इंटर-कॉलेज क्रॉसवर्ड एक्सपीडिशन (एनआईसीई) 2023 ग्रैंड फिनाले में मनाया गया बौद्धिक...

नेशनल इंटर-कॉलेज क्रॉसवर्ड एक्सपीडिशन (एनआईसीई) 2023 ग्रैंड फिनाले में मनाया गया बौद्धिक उत्कृष्टता का उत्सव

नई दिल्ली।

नेशनल इंटर-कॉलेज क्रॉसवर्ड एक्सपीडिशन NICE 2023 का ग्रैंड फिनाले 22 अगस्त को नई दिल्ली के वसंत कुंज, नेल्सन मंडेला मार्ग स्थित एआईसीटीई ऑडिटोरियम में आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में देश भर से प्रतिभाशाली लोगों की भीड़ देखने को मिली, जिन्होंने अपनी भाषाई क्षमता और बौद्धिक कौशल का प्रदर्शन किया।

दो दिनों तक चलने वाले इस आयोजन के पहले दिन भारत सरकार के डीपीआईआईटी सचिव , आईएएस , श्री राजेश कुमार सिंह बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे, एआईसीटीई के वाइस चेयरमैन डॉ. अभय जेरे, एआईसीटीई सदस्य सचिव श्री राजीव कुमार, आईआईएम मुंबई निदेशक प्रोफेसर मनोज तिवारी, क्रॉसवर्ड एसोसिएशन उत्तराखंड अध्यक्ष आईएएस(सेवानिवृत्त) श्री राजेश भूषण, आईएफउएस श्री ए.के. अंबस्थ, आईपीएस श्री प्रशांत चांगमई, बिहार के विकास आयुक्त आईएएस श्री विवेक कुमार सिंह और दिल्ली में बिहार सरकार के रेजिडेंट कमिश्नर आईएएस श्री कुंदन कुमार भी इस दौरान मौजूद रहे। जिन्होंने प्रतिभागियों के प्रति अपनी प्रशंसा व्यक्त की और क्रॉसवर्ड पहेलियों की कला के माध्यम से अपने ज्ञान को बढ़ाने के उनके समर्पण की सराहना की।

भारत सरकार के डीपीआईआईटी सचिव आईएएस श्री राजेश कुमार सिंह ने युवाओं में मानसिक विकास को बढ़ावा देने की बात करते हुए कहा, “हम स्कूलों और कॉलेज पत्रिकाओं के लिए पहले क्रॉसवर्ड पहेली सेट करते थे और फिर हमने इसे एयर इंडिया की स्वागत पत्रिकाओं में शामिल कर लिया। पहले लोग अकेले ही क्रॉसवर्ड को हल किया करते थे और अब यह स्कूलों, कॉलेजों और अन्य जगहों पर एक प्रतिस्पर्धी कार्यक्रम के रूप में बदल गया है। क्रॉसवर्ड मस्तिष्क व्यायाम की तरह है, जो उम्र बढ़ने के साथ मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।

बिहार के विकास आयुक्त आईएएस श्री विवेक कुमार सिंह ने कहा, ” क्रॉसवर्ड मेरा जुनून है , उच्च शिक्षा मंत्रालय के इस विचार को साकार करने के लिए सी टीम ने अहम भूमिका निभाई है, एआईसीटीई और आईआईएम मुंबई ने इसे पूरा करने मे अपना योगदान दिया है, उन्होंने इस आयोजन को अपने बच्चों की तरह पाला है। उनकी वजह से ही यह आयोजन गांवों से लेकर देश के बड़े हिस्से तक फैल गया है”

एआईसीटीई के सदस्य सचिव श्री राजीव कुमार ने प्रतिभागियों पर एनआईसीई के सकारात्मक प्रभाव पर प्रकाश डाला उन्होंने कहा, “जब मैं 8-10 साल का था तब मैं क्रॉसवर्ड हल करता था, लेकिन नहीं कर पाता था। फिर मैं विवेक जी से मिला और कहा कि यह बहुत उबाऊ है, लेकिन छात्रों ने इसके लिए जो उत्साह दिखाया है, उसने इसके प्रति मेरी रुचि पैदा की है। क्रॉसवर्ड छात्रों में तर्कसंगत व्यवहार को विकसित करने में मदद करता है। इसके साथ इस आयोजन के माध्यम से मैं राष्ट्रीय शिक्षा नीति का समर्थन करता हूँ और मैं उन विजेताओं को भी बधाई देना चाहता हूं जो कल ट्रॉफी प्राप्त करेंगे।”

क्रॉसवर्ड एसोसिएशन उत्तराखंड के अध्यक्ष आईएएस (सेवानिवृत्त) श्री राजेश भूषण ने बौद्धिक व्यस्तताओं के महत्व पर जोर देते हुए कहा , “क्रॉसवर्ड पहेलियाँ खेल से कहीं अधिक हैं वे बौद्धिक अभ्यास की तरह है जो चुनौती देते हैं और प्रेरित करते हैं। एनआईसीई छात्रों को अपनी विद्वता प्रदर्शित करने और समान विचारधारा वाले साथियों के साथ जुड़ने के लिए एक मंच प्रदान करता है।”

इस कार्यक्रम में बिहार सरकार के रेजिडेंट कमिश्नर आईएएस श्री कुंदन कुमार ने भी इसकी सराहना की उन्होंने कहा, “मैं भाग लेने वाले और जीतने वाले सभी प्रतिभागियों को देख कर आश्चर्यचकित हूं, एआईसीटीई और सभी संस्थानों को बधाई देता हूं जिन्होंने एनआईसीई को इतने विशाल रूप में विकसित करने में मदद की है। मैं बिहार सरकार के रेजिडेंट कमिश्नर के रूप में, इस संदेश को और फैलाने के लिए जो कुछ भी कर सकता हूं, वह करने के लिए तैयार हूं।”

आयोजन का भव्य समापन 23 अगस्त 2023 (बुधवार) को होगा। जिसमें विजेताओं के नामों की घोषणा की जाएगी। एनआईसीई 2023 का ग्रैंड फिनाले बौद्धिक उत्कृष्टताके उत्सव के रूप मे साबित हुआ, जिसमें देश भर से अकादमिक समुदाय, सरकारी अधिकारी और युवा प्रतिभाएं एक साथ नजर आए |

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments