नई दिल्ली।

दिल्ली में जुलाई महीने में रिकॉर्ड तोड़ बारिश और यमुना में आई बाढ़ ने अचानक डेंगू और अन्य बीमारियों के मरीज बढ़ा दिए हैं। आमतौर पर डेंगू का कहर सितंबर में देखने को मिलता था, लेकिन इस बार अभी से मरीज बढ़ने लगे हैं। इसके अलावा आई फ्लू (आंखों का संक्रमण) के मामलों में भी इजाफा हुआ है। खासतौर पर बच्चे इसकी चपेट में ज्यादा आ रहे हैं।

दिल्ली नगर निगम की डेंगू की रिपोर्ट के अनुसार, 15 जुलाई तक दिल्ली में डेंगू के 163 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि पिछले वर्ष इस तारीख तक यह संख्या 158 थी। राहत भरी बात यह है कि अभी अस्पताल में इक्का-दुक्का डेंगू के मरीज पहुंच रहे हैं। वहीं 15 जुलाई तक मलेरिया के 54 मरीज मिले हैं। वर्ष 2022 में इस अवधि तक 29 मरीज मिले थे। इसके अलावा चिकनगुनिया के 15 जुलाई तक 14 मरीज मिले हैं। वहीं, गत वर्ष 15 जुलाई तक आठ मामले सामने आए थे। सफदरजंग अस्पताल के नेत्र विभाग के डॉक्टर पंकज रंजन ने बताया कि ओपीडी में आई फ्लू के मरीज बढ़ गए हैं।

आई फ्लू के लक्षण

आंखों का लाल हो जाना और सूजन आ जाना। आंखों से पानी बहना और सफेद रंग का पदार्थ आना। आंखों में खुजली और दर्द होना।

इस तरह करें बचाव

आई फ्लू से पीड़ित व्यक्ति काला चश्मा पहनकर रखे। टीवी या मोबाइल देखने से बचें। आंखों को बार-बार छूने से बचें। आंखों को साफ करने के लिए गंदे कपड़े का इस्तेमाल न करें। किसी से भी आई टू आई कांटेक्ट न बनाएं

ऐसे पहचानें बीमारी

डेंगू : तेज बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों और जोड़ों का दर्द, प्लेटलेट्स का कम होना, बीपी कम होना, त्वचा पर लाल चकते होना, जी मिचलाना और उल्टी लगना।

मलेरिया : ठंड लगना, तेज बुखार आना, पसीना आना, शरीर में दर्द, उल्टी, थकान, दस्त, सिरदर्द, पेट और दर्द मांसपेशियों में दर्द होना।

चिकनगुनिया : बुखार, जोड़ों में दर्द, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द और जोड़ों में सूजन एवं दाने निकलने की शिकायत पीड़ित को होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *