29 C
New Delhi
Sunday, April 14, 2024
होमदेश-विदेशदिल्ली में 'सैलाब' से कोहराम, लालकिला सैलानियों के लिए बंद, आईटीओ-राजघाट भी...

दिल्ली में ‘सैलाब’ से कोहराम, लालकिला सैलानियों के लिए बंद, आईटीओ-राजघाट भी पानी-पानी

नई दिल्ली।

यमुना का जलस्तर भले ही कम हो रहा हो लेकिन दिल्ली में सैलाब का संकट अब भी बरकरार है। यमुना नदी अब भी खतरे के निशान से 3 मीटर ऊपर बह रही है। ऐसे में राजधानी के कई इलाके अभी भी जलमग्न हैं। आईटीओ के पास पानी भर चुका है। नदी के किनारे की बस्तियों से आगे बढ़कर पानी लाल किला और रिंग रोड तक पहुंच गया। इसी के चलते आज लाल किले में पर्यटकों के जाने पर रोक लगा दी गई है। बाढ़ के खतरे को देखते हुए दिल्ली में सभी स्कूलों को 16 जुलाई तक बंद कर दिया गया है। उधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और एलजी विनय सक्सेना से फोन पर बात की है और दिल्ली की बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। बताया जा रहा है कि यमुना के जलस्तर में 17 सेंटीमीटर की गिरावट आई है। हालांकि मौसम विभाग ने दिल्ली और आसपास के इलाके (जाफरपुर, नजफगढ़, द्वारका, पालम, आईजीआई एयरपोर्ट, आयानगर, डेरामंडी) और एनसीआर (गुरुग्राम), गोहाना, सोनीपत में हल्की बारिश की संभावना जताई है। माना जा रहा है कि अगर इन इलाकों में बारिश हुई तो दिल्लीवासियों की परेशानी और बढ़ सकती है।

दिल्ली में एनडीआरएफ की 15 टीमें तैनात
दिल्ली में एनडीआरएफ की 15 टीमें तैनात की गई हैं। अब तक 4346 लोगों और 179 पशुधन को एनडीआरएफ ने रेस्क्यू किया है। यमुना का जलस्तर सुबह 11 बजे तक 208.35 मीटर पर पहुंच गया है। 10.50 AM केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी ने लाल किले का दौरा किया है। पानी भरने के चलते दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने प्रगति मैदान टनल से आईटीओ की ओर जाने वाली सड़क बंद कर दी है।यमुना अभी भी खतरे के निशान से 3 मीटर ऊपर बह रही है। हालांकि कल की तुलना में आज जलस्तर कुछ सेमी तक घटा है। लेकिन दिल्ली में कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है। आईटीओ, राजघाट के पास जलभराव है। लाल किले के पास पानी भरने के लिए चलते आज पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया है। दिल्ली का गढ़ी मांडू गांव बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है। पूरे गांव में पानी भर चुका है। लोगों को लगातार सुरक्षित जगहों पर ले जाया जा रहा है। दिल्ली के यमुना बाजार इलाके में भी चारों तरफ पानी ही पानी भरा है। एनडीआरएफ की तरफ से नाव के जरिए लोगों को रेस्क्यू किया जा रहा है।

नोएडा में भी असर
यमुना में आई बाढ़ का असर दिल्ली के अलावा नोएडा में भी दिख रहा है। नोएडा के सेक्टर 168 में जलभराव हो गया। यहां कई लोग पानी के बीच घिर गए। इसके बाद एनडीआरएफ की टीम यहां से लोगों को निकालने में जुटी है। जिन इलाकों में पानी भरा है, वहां से लोगों को सुरक्षित स्थानों तक शिफ्ट करने के लिए एनडीआरएफ के जवान मुस्तैद हैं। यमुना के जलस्तर की वजह से आईटीओ बराज के पांच गेट जाम हो गए हैं। दिल्ली की तीन बॉर्डरों से बसों और ट्रकों की आवाजाही को बंद कर दिया गया। सरकार की ओर से कर्मचारियों को घर से काम करने के निर्देश दिए गए हैं।

सीएम आवास तक नहीं पहुंचा पानी
दिल्ली में सीएम केजरीवाल के आवास के पास तक यमुना का पानी नहीं पहुंचा है। सीएम दफ्तर ने केजरीवाल के आवास तक पानी पहुंचने की खबरों का खंडन किया है। दरअसल गुरुवार को खबर आई थी कि सीएम के आवास के पास यमुना का पानी पहुंच गया है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments