25.1 C
New Delhi
Monday, April 22, 2024
होमव्यापारविदेशियों में भी रामलला के दर्शन की ललक, शुरु हुई स्पेशल ट्रेन,...

विदेशियों में भी रामलला के दर्शन की ललक, शुरु हुई स्पेशल ट्रेन, रामायण यात्रा ट्रेन में यूके के 60 और पुर्तगाल से 52 पर्यटक ने की यात्रा

नई दिल्ली।

विदेशी भी अयोध्या में रामलला का दर्शन करना चाह रहे हैं। अयोध्यानगरी जाने के लिए रेलवे को वेम्बली, यूके में समुदाय आधारित संगठन रामायण यात्रा के पर्यटन ट्रेन चलाने की मांग कर रहे थे। इसे देखते हुए भारत गौरव डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन दिल्ली के सफदरजंग से रामायण यात्रा पर शुरू की है। खास बात यह भी है कि महिलाएं इस यात्रा को लेकर ज्यादा उत्सुक हैं।

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईआरसीटीसी) से विशेष रेलगाड़ी चलाई है। रविवार को 122 पर्यटकों का समूह रामायण यात्रा के लिए निकला है। इसमें 45 पर्यटक पुरुष और 77 महिलाएं हैं। 60 पर्यटक यूके से हैं, 52 पर्यटक पुर्तगाली है और 10 पर्यटक भारत (दीव) के है। भगवान राम के प्राण के बाद राम जन्मभूमि मंदिर के दर्शन के लिए विशेष योजना बनाई गई है ताकि राम मंदिर के दर्शन के साथ-साथ रामायण सर्किट से जुड़े अन्य स्थलों का भ्रमण कराया जा सके।

भारत गौरव डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन 18 रातें और 19 दिन के लिए अपने सफर पर रविवार देर शाम निकली है। यात्रियों का उत्साह देखते ही बन रहा था। दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से विदेश एवं संस्कृति राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने भारत गौरव डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन को हरी झंडी दिखाते वक्त जय श्रीराम के उद्घोष से स्टेशन गुंजायमान रहा। केसरिया रंग के कपड़े, टोपी और जय श्रीराम वाला पटका पहनकर लोग यात्रा करने पहुंचे थे। इस ट्रेन से पर्यटक दिल्ली से अयोध्या जाएंगे। इसके बाद नंदीग्राम-जनकपुर-सीतामढ़ी-बक्सर-वाराणसी-प्रयागराज-श्रृंगवेरपुर-चित्रकूट-नासिक-हम्पी-रामेश्वरम-भद्राचलम-नागपुर तक की दूरी तय करेंगे। नागपुर से वापस पर्यटक दिल्ली आ जाएंगे। दो डॉक्टरों की टीम भी इस ट्रेन में पूरे यात्रा के दौरान रहेगी।

भगवान से जुड़े स्थलों का दर्शन करेंगे पर्यटक

पर्यटक अयोध्या पहुंचकर राम जन्मभूमि मंदिर, हनुमान गढ़ी, सरयू घाट का दर्शन करेंगे। इसके बाद नंदीग्राम में भरत-हनुमान मंदिर और भरत कुंड जाएंगे। जनकपुर पहुंचकर जानकी मंदिर, राम जानकी विवाह मंडप, धनुषा धाम और परशुराम कुंड जाएंगे। इसी तरह सीतामढ़ी स्थित जानकी मंदिर एवं पुनौरा धाम, बक्सर स्थित राम रेखा घाट, रामेश्वर नाथ मंदिर,वाराणसी के तुलसी मानस मंदिर, संकट मोचन मंदिर, विश्वनाथ मंदिर और विशेष रूप से गंगा आरती में शामिल होंगे। प्रयागराज में भारद्वाज आश्रम, गंगा-यमुना संगम, हनुमान मंदिर देखेंगे। इसके बाद श्रृंगवेरपुर स्थित श्रृंगि ऋषि समाधि और शांता देवी मंदिर, रामचौरा। चित्रकूट में गुप्त गोदावरी, राम घाट, सती अनुसूइया मंदिर। नासिक स्थित त्रयंबकेश्वर मंदिर, पंचवटी, सीतागुफा, कालाराम मंदिर का दर्शन कराया जाएगा। हंपी में अंजनाद्रि पहाड़ी, विरुपाक्ष मंदिर और विट्ठल मंदिर दिखाया जाएगा। रामेश्वरम पहुंचकर रामनाथस्वामी मंदिर और धनुषकोडी। भद्राचलम स्थित श्री सीता रामचंद्रस्वामी मंदिर, अंजनेय स्वामी मंदिर और नागपुर स्थित रामटेक किला और मंदिर का भ्रमण कराया जाएगा।

ट्रेन की खासियत

दिल्ली रेल मंडल प्रबंधक सुखविंदर सिंह ने इस मौके पर बताया कि सैलानियों के लिए खास डिजाइन से ट्रेन के कोच को तैयार किया गया है। अत्याधुनिक एसी कोच, आधुनिक सुविधाओं से लैस, दो डाइनिंग रेस्तरां, आधुनिक किचन कार, फुट मसाजर, सुरक्षा गार्ड के साथ लघु पुस्तकालय, सीसीटीवी कैमरों से लैस किया गया है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments