नई दिल्ली।

15 जापानी पर्यटकों के एक समूह ने मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान में योग सत्र में उत्साहपूर्वक भाग लिया। योग थेरेपिस्ट मधु खुराना द्वारा इस योग सत्र का संचालन किया गया और योग प्रशिक्षु श्रुति द्वारा प्रदर्शन किया गया।

एमडीएनआईवाई निदेशक विक्रम सिंह ने पर्यटकों के समूह का गर्मजोशी से स्वागत किया। निदेशक ने उन्हें संस्थान की विभिन्न गतिविधियों और कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी। इस दौरान जापानी पर्यटकों ने संस्थान के निदेशक विक्रम सिंह के साथ एक संवादात्मक सत्र में भाग लिया, जिससे प्रतिभागियों को प्राचीन योग परंपराओं में निहित योग दर्शन और परम्पराओं की गहरी समझ प्राप्त करने का मौका मिला। कार्यक्रम के अंत में अतिथियों ने अपने सुखद अनुभव साझा किये और योग को बढ़ावा देने में संस्थान के पहल की सराहना की।

गौरतलब है कि योग जापानियों के दिल में धड़कता है। माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 30 अगस्त 2019 को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित एक समारोह में जापान में योग के प्रचार और विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिए जापान योग निकेतन के किमुरा को अंतरराष्ट्रीय श्रेणी में ‘प्रधानमंत्री योग पुरस्कार-2019’ से सम्मानित किया।

बता दें कि योग भारत की हजारों साल पुरानी परंपरा है, जो शरीर और मन की उत्कृष्टता के लिए शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में सामंजस्य स्थापित करती है। 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’ घोषित किया। यह घोषणा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के भागीरथी प्रयास और विशेष आग्रह पर की गई थी। कार्यक्रम के दौरान मुदित शर्मा, प्रशासनिक अधिकारी, एमडीएनआईवाई और मनजोत कौर, आहार विशेषज्ञ, एमडीएनआईवाई भी उपस्थित थे, जिन्होंने कार्यक्रम के सफल संचालन में अपना योगदान दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *