नई दिल्ली।

दिल्ली पुलिस का संसद सुरक्षा में सेंध लगाने वाले आरोपियों के परिजनों से पूछताछ का सिलसिला शुरू हो गया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि बीती रात दिल्ली से एक पुलिस टीम हरियाणा के जींद स्थित नीलम के घर पहुंची। परिजनों से कई सवाल जवाब किए गए। साथ ही नीलम के कमरे की तलाशी भी ली गई। फिलहाल कमरे से कुछ सामान जब्त किया है या नहीं, इस पर कोई अधिकारी खुलकर कुछ नहीं बोल रहा है। लेकिन प्राप्त जानकारी के अनुसार पुलिस को उसके कमरे से तीन बैंकों की पासबुक एक एटीएम कार्ड मिला हैं। इसके अलावा उसके बैड में रखी पुस्तकों में भी कुछ पुलिस अपने साथ ले गई। घर में ही दिल्ली पुलिस को नीलम की निजी डायरी भी मिली है। अब पुलिस बाकी आरोपियों के परिजनों के घर जाकर पूछताछ करेगी। पूछताछ का मकसद यह भी है कि पुलिस जानना चाहती है कि आरोपियों के प्लान के बारे में उनके परिजनों को कुछ पता था या नहीं, कहीं परिजन भी तो उनका साथ नहीं दे रहे थे।

6 आरोपी गिरफ्तार
इस मामले में अब तक पुलिस 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। जिनमें सागर शर्मा, मनोरंजन गौड़, अमोल शिंदे, नीलम आजाद, ललित झा और महेश कुमावत शामिल हैं। कल रात पुलिस नीलम के घर पहुंची थी। नीलम खुद को एक्टिविस्ट बताती है। उसके सोशल मीडिया प्रोफाइल्स खंगालने पर पुलिस को पता चला है कि वह कई विरोध प्रदर्शनों में एक्टिव रह चुकी है।

शुरूआत से ही प्रदर्शन में हिस्सा लेती रही नीलम

वह कुछ समय पहले तक हिसार के रेड स्क्वॉयर मार्केट के पीछे स्थित पीजी में रहकर सिविल सर्विसेज एग्जाम की तैयारी कर रही थी और 25 नवंबर को घर जाने की बात कहकर पीजी से चली गई थी। उसके साथ पीजी में रहने वाली लड़कियों का भी कहना था कि उसकी रुचि राजनीति में बहुत ज्यादा थी। वहीं नीलम के परिजनों से भी पुलिस को पता चला है कि नीलम गांव वालों के साथ किसान आंदोलन में भी जाती थी। यानी वह शुरुआत से ही ऐसे प्रदर्शन में हिस्सा लेती रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *