नई दिल्ली।

दिल्ली में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है, जहां इस ठंड में आम लोगों का घर से निकलना दुश्वार हो जाता है तो वहीं सड़क किनारे रह रहे लोगों के लिए कड़ाके की ठंड में सबसे बड़ी चिंता होती है कि आखिरकार वह रात में कहां सोए, जिससे वह ठंड से बच सकें। बढ़ती ठंड को देखते हुए दिल्ली सरकार ने जगह-जगह आश्रय घर बना दिए हैं, ताकि सड़क किनारे सोने और रहने वाले लोग इस आश्रय घर में बढ़ती ठंड में खुद को ठंड से बचा सके, जो तस्वीर आप देख रहे हैं, यह तस्वीर बदरपुर मथुरा रोड की है, जहां वाटरप्रूफ टेंट लगाकर दिल्ली सरकार के द्वारा आश्रय घर बनाया गया है, जिसमें लोगों के रहने के लिए बेड, गद्दा, मोटे-मोटे कंबल और रात्रि का भोजन और सुबह का नाश्ता दिया जाना है। वहीं इनके रखरखाव और देखभाल के लिए एक केयरटेकर भी यहां पर रखा गया है, ताकि आश्रय घर में रहने वाले लोगों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो।

मथुरा रोड पर स्थित सरिता विहार मेट्रो स्टेशन के नजदीक तकरीबन 40 लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है और इस आश्रय घर में दिल्ली सरकार की ओर से तमाम सुविधाएं दी जा रही है। दिल्ली सरकार के आश्रय घर में केयरटेकर के रूप में कार्य कर रहे गार्ड ने बताया कि दिल्ली सरकार का आश्रय घर आज से शुरू हो गया है। इसमें दो वक्त का भोजन, बेड, गद्दा और कंबल की व्यवस्था की गई है। अब सड़क किनारे रहने वाले लोग इस आश्रय घर में आकर ठंड में रह सकते हैं।

बता दें कि दिल्ली में बढ़ते ठंड को देखते हुए दिल्ली सरकार के खिलाफ विपक्ष के नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने विधानसभा में ठंड में बेघर लोगों की हुई मौत का मामला भी उठाया है। विशेषाधिकार समिति को दिल्ली में सर्दी से हुई 203 लोगों की मौत का मामला भेजा गया है। नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने दिल्ली पुलिस की एक रिपोर्ट का हवाला दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *