25.1 C
New Delhi
Monday, April 22, 2024
होमक्राइमदिल्ली के एसीपी के बेटे का शव हरियाणा में नहर से बरामद,...

दिल्ली के एसीपी के बेटे का शव हरियाणा में नहर से बरामद, पकड़ा गया मुख्य आरोपी

नई दिल्ली।

दिल्ली पुलिस ने सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) के बेटे का शव बरामद कर लिया और मुख्य आरोपी विकास भारद्वाज को भी गिरफ्तार कर लिया है। एसीपी के बेटे को वित्तीय विवाद को लेकर उसके दो दोस्तों ने हरियाणा की एक नहर में कथित तौर पर धक्का दे दिया था। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपियों ने एक शादी से लौटते वक्त एसीपी के बेटे को नहर में धक्का दे दिया था।

आरोपियों में से एक तीस हजारी अदालत में एक वकील के साथ क्लर्क के तौर पर काम करता है। 26 वर्षीय मृतक लक्ष्य चौहान अपने दो दोस्तों विकास भारद्वाज और अभिषेक के साथ बीते सोमवार को हरियाणा के सोनीपत में एक विवाह समारोह में शामिल होने गया था। जब वह अगले दिन घर नहीं लौटा, तो उसके पिता एसीपी यशपाल सिंह ने गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। यशपाल सिंह बाहरी-उत्तरी दिल्ली के एसीपी (अभियान) के रूप में तैनात हैं। पुलिस ने बताया कि पुलिस को जांच के दौरान कुछ गड़बड़ी का संदेह हुआ, जिसके बाद शिकायत को अपहरण की प्राथमिकी में बदल दिया गया। इस पूरी घटना का तब पर्दाफाश हुआ, जब नरेला में रहने वाले 19 वर्षीय अभिषेक को गिरफ्तार किया गया और उससे पूछताछ की गई, जिसके बाद पुलिस ने प्राथमिकी में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) जोड़ी। पहले समयपुर बादली पुलिस थाने में अपहरण का मामला दर्ज किया गया था।

पुलिस उपायुक्त (बाहरी उत्तर) रवि कुमार सिंह ने कहा, ‘‘अभिषेक को पकड़ा गया और पूछताछ करने पर यह पता चला कि 22 जनवरी (सोमवार) की दोपहर को वकील के कर्मचारी ने उससे संपर्क किया और भिवानी में एक शादी समारोह में उसके साथ चलने को कहा। विकास ने अभिषेक को बताया था कि तीस हजारी अदालत में कानून की प्रैक्टिस करने वाले लक्ष्य ने उससे पैसे उधार लिए थे और जब उसने लक्ष्य से पैसे लौटाने के लिए कहा तो उसने उसके साथ दुर्व्यवहार किया। इसके बाद दोनों ने लक्ष्य को खत्म करने की साजिश रची और उसे हरियाणा की मुनक नहर में धक्का देने का फैसला किया।

डीसीपी ने बताया, ‘‘वे सोमवार दोपहर को मुकरबा चौक से चले जहां लक्ष्य एक कार में अभिषेक से मिला। अभिषेक कार में लक्ष्य के साथ बैठा था और बाद में विकास भी उनके साथ आ गया। देर रात तक वे भिवानी में एक शादी समारोह में पहुंचे और देर रात 12 बजे वहां से रवाना हुए। वे पानीपत में रुके, जहां तीनों थोड़ा आराम करने के लिए कार से बाहर निकले। इस मौके का फायदा उठाते हुए अभिषेक और विकास ने लक्ष्य को कथित तौर पर नहर में धक्का दे दिया और कार में बैठकर फरार हो गए। डीसीपी ने बताया कि मुख्य आरोपी विकास को रविवार को गिरफ्तार किया गया और अपराध में इस्तेमाल कार भी बरामद कर ली गई है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में समालखा के समीप नहर से शव बरामद किया गया है। पुलिस ने बताया कि अभिषेक की तीन दिन की पुलिस रिमांड ली गई है।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments