30.1 C
New Delhi
Sunday, April 14, 2024
होमदेश-विदेशएआईसीटीई और ग्रीस शिक्षा गठबंधन ने शिक्षा में सीमा पार सहयोग का...

एआईसीटीई और ग्रीस शिक्षा गठबंधन ने शिक्षा में सीमा पार सहयोग का मार्ग खोला

संयुक्त रिसर्च, प्रशिक्षण, ट्विनिंग प्रोग्राम और विकास पर हुई चर्चा

भारत-ग्रीस सहयोग के माध्यम से शिक्षा क्षेत्र को दिया जाएगा बढ़ावा

नई दिल्ली।

ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) के चेयरमैन प्रोफेसर टी.जी. सीताराम ने दोनों देशों के बीच शैक्षिक गठबंधन को बढ़ावा देने के लिए ग्रीस के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की। यह बैठक 4 अक्टूबर, 2023 को आयोजित की गई थी और इसमें संयुक्त अनुसंधान(रिसर्च), प्रशिक्षण, ट्विनिंग प्रोग्राम और विकास सहित सहयोग के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा हुई।

सीमा पार सामंजस्य की दिशा में पहला कदम

एआईसीटीई के चेयरमैन प्रो. टी.जी. सीताराम ने ग्रीस दूतावास में ग्रीक राजदूत श्री दिमित्रियोस इओन्नौ, ग्रीस दूतावास में मिशन के उप प्रमुख, एलेक्जेंड्रोस बौडोरिस और राजनीतिक-सांस्कृतिक मामलों की प्रथम परामर्शदाता, सुश्री इसमिनी पानागोपोलू के साथ चर्चा का नेतृत्व किया। इस बैठक को दोनों देशों के बीच शिक्षा के क्षेत्र में अधिक सहयोग को बढ़ावा देने की दिशा में पहला कदम माना जा रहा है।

शैक्षिक उत्कृष्टता के लिए सेतु का निर्माण

बैठक वार्ता के दौरान, प्रोफेसर सीताराम ने अंतरराष्ट्रीय सहयोग की महत्वता पर जोर दिया और कहा, “हमारा आगामी भविष्य केवल इस समझ पर निर्मित किया जा सकता है कि हम अपनी चुनौतियों और अवसरों को स्वीकार करते हुए सीमा पार सहयोग के माध्यम से उनका सामना कैसे कर सकते हैं। ग्लोबलीकरण के इस युग में, हर शिक्षा संस्थान एक राष्ट्र का निर्माण करता है। वह यह समझता है कि अपनी आंखें बंद रख वह सब कुछ सुनने की क्षमता प्रदान नहीं कर सकता। इसलिए हमने अपनी दृष्टि को बढ़ाने और एक परिदृश्य बनाने का कार्य संभाला है ताकि हम समृद्धि की खेती कर सकें।”

राजदूत इओन्नौ ने इस पहल के लिए अपने समर्थन की पुष्टि की और ग्रीक शिक्षा मंत्रालय को एआईसीटीई के इरादे की सिफारिश करने का आश्वासन दिया। राजनीतिक और सांस्कृतिक परामर्शदाता सुश्री इसमिनी पानागोपोलू ने इस तालमेल और बढ़ावे के लिए एआईसीटीई को संबंधित ग्रीक अधिकारियों के साथ जोड़ने का वादा किया।

एक दूसरे से सीखेंगे

ग्रीक मिशन के उप प्रमुख श्री एलेक्जेंड्रोस बौडोरिस ने आपसी सीखने के अवसरों के बारे में बात की और कहा, “हम सभी को एक-दूसरे की धारणा और वास्तविकताओं से बहुत कुछ सीखना है।” उन्होंने “यूरेका- ईयू रिसर्च, एजुकेशन एंड नॉलेज एलायंस” नामक एक मंच बनाने के प्रयासों के लिए हेलेनिक इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमी की भी सराहना की।

बैठक का आयोजन हेलेनिक इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमी द्वारा किया गया था और माननीय कमिश्नर अटैचे, योगी कोचर ने प्रत्येक शैक्षणिक संस्थान के लिए एक स्कॉलरशिप की घोषणा की जो “YOL” नामक शीर्षक से जाने जाने वाले हैप्पीनेस कार्यक्रम को अपनाता है।

आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त करना

हेलेनिक चैंबर के सामान्य कानूनी सलाहकार अटैचे, हवनेश चावला ने दोहराया कि वह द्विपक्षीय वाणिज्यिक और कानूनी रूपरेखा को ध्यान में रखते हुए एक समग्र वायरफ्रेम बनाने की प्रतिबद्धता को सुनिश्चित करेंगे।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments