होमदेश-विदेशअटल फाउंडेशन ने दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय श्री अटल पुरस्कार 2023 की घोषणा...

अटल फाउंडेशन ने दिल्ली में अंतरराष्ट्रीय श्री अटल पुरस्कार 2023 की घोषणा की

इसका उद्देश्य भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी की विरासत को रखना है कायम

यह कार्यक्रम राष्ट्रपति भवन के टैगोर हॉल में आयोजित किया जाएगा, आवेदन  की अंतिम तिथि 20 नवंबर, 2023 हैं

नई दिल्ली।

दिल्ली के प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में
भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती मनाने के तहत अटल फाउंडेशन की राष्ट्रीय अध्यक्ष अपर्णा सिंह और अंतरराष्ट्रीय कॉर्डिनेटर डॉ. पुष्पिता अवस्थी संगठन के सम्मानित सदस्यों में शामिल हुईं।

इस बैठक का प्राथमिक उद्देश्य  भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती के अवसर पर 25 दिसंबर, 2023 को होने वाले भव्य अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम की घोषणा करना था। यह कार्यक्रम, जिसे “अंतरराष्ट्रीय अटल पुरस्कार 2023” के रूप में जाना जाएगा, 2023 में पहली बार आयोजित किया जाएगा। यह कार्यक्रम राष्ट्रपति भवन के टैगोर हॉल में आयोजित किया जाएगा ,इस ऐतिहासिक आयोजन में भाग लेने के इच्छुक लोगों के लिए आवेदन संगठन की वेबसाइट पर 20 नवंबर, 2023 की अंतिम तिथि तक जमा किए जा सकते हैं।

अटल फाउंडेशन की राष्ट्रीय अध्यक्ष अपर्णा सिंह ने कहा, “भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की विरासत हमारे देश के लिए एक मार्गदर्शक प्रकाश है। अंतरराष्ट्रीय अटल पुरस्कार 2023 के माध्यम से, हम वैश्विक मंच पर उनकी स्थायी भावना को रोशन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अटल जी के सिद्धांत और दृष्टिकोण सीमाओं से परे हैं, और हम इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम के माध्यम से मानवता के लिए उनके उल्लेखनीय योगदान का जश्न मनाने के लिए दुनिया भर के लोगों को एकजुट करने के लिए सम्मानित महसूस कर रहे हैं। यह पुरस्कार कुल 11 श्रेणी में 11 व्यक्तियों को उनके अतुलनीय योगदान के लिए  दिया जायेगा । प्रत्येक  विजेताओं को  1लाख रुपए का चेक प्रदान किया जाएगा , साथ ही श्री अटल जी की गोल्ड प्लेटेड  प्रतिमा ,  प्रशस्ति  पत्र और शॉल के साथ सम्मानित किया जाएगा।

डॉ आचार्य राजेश ओझा जी ने कहा, “अटल जी ने हमेशा मानवीय मूल्यों के पक्षधर रहे थे। मेरे जैसे इस देश के करोड़ों युवाओं को लोगों के कल्याण के लिए काम करने के लिए प्रेरित किया। “अंतरराष्ट्रीय अटल पुरस्कार 2023″   के माध्यम से हम वैश्विक मंच पर उनकी स्थायी भावना को रोशन करने का कार्य करेंगे। यह शोध का विषय है कि वह कैसे इस मुकाम पर पहुंचे। इतनी शिष्टता और विनम्रता के साथ उनके जीवन के ऐसे शिखर जहाँ पहुँचना मुश्किल है। वह हमारे लिए प्रेरणा रहेंगे।”

इस मौके पर अपर्णा सिंह और डॉ. पुष्पिता अवस्थी ने सभी व्यक्तियों के समर्थन और भागीदारी के लिए आभार व्यक्त किया और अंतरराष्ट्रीय अटल अवार्ड को सफल बनाने में सामूहिक प्रयास के महत्व पर जोर दिया।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments