एसओएल पर छात्रों का आरोप, पढ़ाई के नाम पर खानापूर्ति, न बीच में ब्रेक…. न पूरी पीसीपी क्लास

एसओएल पर छात्रों का आरोप, पढ़ाई के नाम पर खानापूर्ति, न बीच में ब्रेक…. न पूरी पीसीपी क्लास

नई दिल्ली।

स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (एसओएल)छात्रों के अनुसार सात विषयों में से चार विषयों की कक्षाएं उपलब्ध कराकर खानापूर्ति की जा रही है। वहीं समय सारिणी में निर्धारित कक्षाओं के बीच भी ब्रेक नहीं दिया जा रहा। इन सब परेशानियों को लेकर एसओएल के छात्रों ने सोमवार को एसओएल अधिकारियों को एक ज्ञापन सौंपा।

छात्र संगठन क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) के अनुसार नया सत्र शुरू होने के बावजूद छात्रों को पीसीपी कक्षाएं शुरू होने या उन्हें आवंटित पीसीपी केंद्रों के संबंध में मैसेज तक नहीं भेजा गया है। इसके अलावा विभिन्न स्टडी सेंटरों पर छात्रों के आने-जाने को लेकर नए मनमाने नियम लागू किए गए हैं। कई छात्रों को पूरा स्टडी मटेरियल भी उपलब्ध नहीं कराया गया है। जो स्टडी मटेरियल दिया गया है उसकी गुणवत्ता बेहद खराब है। बिना पर्याप्त कक्षाओं व पूरे स्टडी मटेरियल के छात्र फेल हो सकते हैं।

इसके अलावा छात्रों को उनके घर से बहुत दूर स्टडी सेंटर आवंटित किए जाने का भी आरोप लगाया है। जिससे उनके लिए समय पर सेंटर पर पहुंच पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। एसओएल अधिकारियों को सौंपे गए ज्ञापन में मांग की गई है कि सभी छात्रों को पूरा व प्रिंटेड स्टडी मटेरियल तुरंत मुहैया कराया जाए और कक्षाओं की संख्या बढ़ाई जाए। नियमित कॉलेजों के मिड-सेमेस्टर ब्रेक 25 से 31 मार्च के दौरान एसओएल कक्षाएं आयोजित की जाएं। एसओएल छात्रों को स्टडी सेंटरों के पुस्तकालय में पढ़ने की सुविधा सुनिश्चित जाए।

शिक्षा