12 साल की कूड़ा चुनने वाली मासूम से गैंगरेप, पुलिस ने 3 नाबालिग समेत 5 को पकड़ा

12 साल की कूड़ा चुनने वाली मासूम से गैंगरेप, पुलिस ने 3 नाबालिग समेत 5 को पकड़ा

नई दिल्ली।

दिल्ली के सदर बाजार में एक कूड़ा बीनने वाली 12 साल की मासूम से चाय के दुकान के मालिक समेत तीन नाबालिगों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। यह घटना नए साल पर हुई बताई जा रही है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार चाय के दुकान के मालिक ने अपने ही दुकान पर चाय पीने आने वाली एक महिला से नए साल पर लड़की का इंतजाम करने को कहा था। जिसके लिए महिला राजी हो गई और उसने इस घिनौने काम में एक कूड़ा बीनने वाली लड़की को फंसा दिया।

महिला ने उस कचरा बीनने वाली मासूम को बहला फुसलाकर एक सील बंद इमारत में कूड़ा बीनने को भेज दिया। जिसके बाद वो मासूम कूड़ा बीनने के लिए उस इमारत में गई लेकिन उसे कहां पता था कि वहां पर कुछ दरिंदे उसके इंतजार में बैठे हैं। जब कचरा बीनने के लिए लड़की सील बंद इमारत में पहुंची तो वहां पर तीनों नाबालिग और चाय के दुकान के मालिक ने उसे घेर लिया और उसके साथ गैंगरेप किया। पुलिस को इस घटना की जानकारी मिली। जिसके बाद पुलिस ने मामले की गंभीरता से जांच करते हुए पांच लोगों को पकड़ लिया है।

डीसीपी मनोज मीणा ने बताया कि जैसे ही हमें इस घटना की जानकारी मिली हमने तुरंत आईपीसी की धारा 376 डी और अन्य धाराओं के तरत केस दर्ज कर लिया और आरोपियों की छानबीन शुरू कर दिया। पुलिस के सर्च ऑपरेशन में पांच लोगों को गिरफ्तार भी किया है। जिसमें चाय दुकान का मालिक भी शामिल है। पुलिस ने बताया कि तीनों नाबालिगों की उम्र 12,14 और 15 साल है।

पुलिस ने इस केस के मुख्य आरोपी 38 साल के चाय के दुकान वाले को भी पकड़ लिया है। पूछताछ में पता चला कि दुकानदार छत्तीसगढ़ का है जबकि उसके यहां काम करने वाले तीनों नाबालिग उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के हैं। पुलिस ने उस महिला की भी पहचान कर ली है जो बहला-फुसलाकर मासूम को उस इमारत में लेकर आई थी। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है।

बता दें कि कचरा बीनने का काम काम करने वाली पीड़ित लड़की बवाना में रहती है और वो रोजाना अपने ग्रुप के साथ कचरा बीनने का काम करती है। रेप के बाद उस मासूम को किसी को कुछ भी नहीं बताने की धमकी दी थी। जिसके कारण वो कुछ दिनों तक चुप रही लेकिन जब एक दिन वो सदर आई तो उसने अपनी चचेरी बहन को इस घटना के बारे में बता दिया। मामूस की चचेरी बहन ने इस पूरे मामले के बारे में बच्ची के मां बाप को बताया। जिसके बाद वो सभी पुलिस स्टेशन गए और वहां पर रिपोर्ट दर्ज कराई। रिपोर्ट दर्ज होने के कुछ देर बाद ही पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया।

क्राइम