दिल्ली में नए साल पर शीतलहर बरपाएगी कहर, आईएमडी ने जारी की चेतावनी

दिल्ली में नए साल पर शीतलहर बरपाएगी कहर, आईएमडी ने जारी की चेतावनी

जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलने की लोगों से अपील

सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा रविवार

नई दिल्ली।

दिल्ली पर नए साल में अब कड़ाके की ठंड का हमला होगा। मौसम विभाग के मुताबिक नए साल पर शीतलहर कहर बरपाएगी। नए साल के पहले दिन सुबह शुरू हुई शीतलहर के अगले पांच दिनों तक कमी के कोई संकेत नहीं हैं। मौसम के बिगड़ते हालात को देखते हुए दिल्ली में भारत मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। साथ ही लोगों से जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलने की अपील की है। आईएमडी का ऑरेंज अलर्ट से साफ है कि दिल्ली एनसीाआर का मौसम खराब हो चुका है। ऐसे में आपको सिर्फ नजर बनाकर नहीं रखनी है, बल्कि घर से बाहर जाने से भी बचना चाहिए। अगर घर से बाहर निकलना जरूरी हो तभी निकलें। ऐसे हालात में अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। ठंड में ऑरेंज अलर्ट शीतलहर और घना कोहरा का और ज्यादा गहराने का संकेत माना जाता है।

सबसे ठंडा रहा साल का अंतिम दिन

बता दें कि रविवार को यहां अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम रहा, जो इस सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा है। सफदरजंग में रविवार को अधिकतम तापमान 15.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो कि सामान्य से पांच डिग्री कम है। वहीं न्यूनतम तापमान 11.7 डिग्री सेल्सियस रहा, जो कि सामान्य से पांच डिग्री ज्यादा है। मयूर विहार इलाका सबसे ज्यादा ठंडा रहा। यहां अधिकतम तापमान 13.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। प्रादेशिक मौसम पूर्वानुमान केन्द्र के निदेशक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि लगातार कोहरे और धूप नहीं निकलने के चलते ठंड में तेजी से इजाफा हुआ है।

4 जनवरी तक नहीं राहत की उम्मीद

आईएमडी के मुताबिक दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश सहित नॉर्थ इंडिया के विभिन्न हिस्सों में मध्यम से घना कोहरा छाया हुआ है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने 4 जनवरी, 2024 तक कोई राहत नहीं मिलने की भविष्यवाणी की है।

50 उड़ानें हुई प्रभावित

मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को पालम में सुबह 9 बजे तक विजिबिलिटी 900 मीटर थी, जबकि सफदरजंग में 500 मीटर दर्ज की गई। इससे पहले सुबह 8 बजे पालम में सबसे कम विजिबिलिटी 700 मीटर दर्ज की गई। घने कोहरे के कारण रेलवे परिचालन में सतर्कता बढ़ा दी गई है, जिससे ट्रेनों के प्रस्थान और आगमन के समय पर असर पड़ा है। फ्लाइट शेड्यूल भी प्रभावित हो रहे हैं, कई उड़ानों में देरी हो रही है और कुछ को संभवतः रद्द करना पड़ रहा है। सुबह 8 बजे तक घने कोहरे के कारण करीब 50 उड़ानों में देरी हो चुकी है। इसमें अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू प्रस्थान और आगमन में व्यवधान शामिल हैं। दिल्ली में इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विजिबिलिटी 800 मीटर दर्ज की गई। यात्रियों के लिए कोहरे के कारण उत्पन्न चुनौती में दिल्ली क्षेत्र में आने वाली कई ट्रेनें देरी से चल रही हैं, जिससे यात्रियों में निराशा है। 23 ट्रेनें अपने निर्धारित आगमन समय से पीछे हैं, और देरी की सीमा कई मार्गों पर भिन्न-भिन्न है।

मैप में धुंध की चादर में लिपटे क्षेत्र
देश-विदेश