दिल्ली शराब घोटाले में इस हफ्ते ईडी करेगी बड़ी कार्रवाई, आप के खिलाफ फाइल करेगी चार्जशीट

दिल्ली शराब घोटाले में इस हफ्ते ईडी करेगी बड़ी कार्रवाई, आप के खिलाफ फाइल करेगी चार्जशीट

नई दिल्ली।

दिल्ली शराब घोटाले में आम आदमी पार्टी (आप) के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) इस हफ्ते चार्जशीट दायर कर सकती है। ईडी दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को फिर से पूछताछ के लिए बुलाए बिना ही चार्जशीट दायर कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक ईडी ने इस बीच आप के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष नारायण दास गुप्ता से पूछताछ की है, जो राज्यसभा सांसद हैं और पार्टी फंड को लेकर निर्णयों से अवगत हैं। जाने-माने चार्टर्ड एकाउंटेंट गुप्ता से 9 दिसंबर को यहां एजेंसी के मुख्यालय में पूछताछ हुई थी।

सुप्रीम कोर्ट को तब ईडी ने आप पर कही थी ये बात

ईडी के लिए आप को अपनी चार्जशीट में शामिल करना इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के एक सवाल के जवाब में उसने बताया था कि लिकर कार्टेल से जो 100 करोड़ रुपये मिले, उसका हिस्सा पार्टी को भी गया। कार्टेल को फायदा पहुंचाने के लिए ही दिल्ली सरकार ने शराब संबंधी नियमों में बदलाव किया गया था। ईडी ने सुप्रीम कोर्ट को यह भी भरोसा दिया कि दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के मुकदमे को छह महीने के भीतर पूरा कर लिया जाएगा।

2 नवंबर को ईडी में पेश नहीं हुए थे केजरीवाल

ईडी ने 2 नवंबर को केजरीवाल को शराब घोटाले के सिलसिले में ही पूछताछ के लिए बुलाया था। यह आरोपपत्र दाखिल करने से पहले औपचारिकताओं को पूरा करना था। हालांकि केजरीवाल ने जांच में शामिल होने में असमर्थता जताई। उन्होंने ईडी को लिखे पत्र में कहा कि उन्हें ‘दिल्ली के वर्तमान मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक के रूप में (पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में) प्रचार के लिए यात्रा करने और क्षेत्र के कार्यकर्ताओं को राजनीतिक मार्गदर्शन देने की जरूरत है’।

केजरीवाल की अनदेखी पर ईडी ने बदला रास्ता

चुनाव खत्म होने के बाद यह उम्मीद की जा रही थी कि केजरीवाल और आप के अन्य लोगों को फिर से बुलाया जा सकता है। हालांकि एजेंसी ने एक अलग रास्ता अपनाते हुए आप के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष से पूछताछ करने का फैसला किया। हाल ही में केजरीवाल की गिरफ्तारी की आशंका के चलते आप ने दिल्ली की जनता के बीच एक ‘जनमत संग्रह’ आयोजित किया कि क्या उन्हें उनकी गिरफ्तारी के बाद भी सीएम बने रहना चाहिए।

क्राइम पॉलिटिक्स