रैपिड रेल में फनी या अश्लील वीडियो बनाई तो खानी पड़ सकती जेल की हवा

रैपिड रेल में फनी या अश्लील वीडियो बनाई तो खानी पड़ सकती जेल की हवा

नई दिल्ली।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में जल्द ही देश की पहली रेपिड रेल का शुभारंभ होने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 अक्टूबर को इसका उद्घाटन कर सकते हैं। इसे रैपिडएक्स का नाम दिया गया है। पहले चरण में इसका संचालन साहिबाबाद से दुहाई के बीच होना है। इस बीच इसी रैपिडएक्स की सुरक्षा और नियम कायदों को लेकर खास दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। जिसके तहत रैपिड रेल में अब फनी और अश्लील वीडियो बनाने पर सख्त कार्रवाई की जा सकती है।

बता दें कि सोशल मीडिया पर वीडियो और रील बनाने का शौक युवाओं के सिर पर चढ़कर बोल रहा है, लेकिन रैपिडएक्स में फनी और अश्लील वीडियो बनाने की मनाही होगी। अगर कोई ऐसा करते हुए पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। यही नहीं उसे जेल की हवा तक खानी पड़ सकती है।

ऐसे मामलों की निगरानी के लिए उत्तर प्रदेश विशेष सुरक्षा बल की पांचवीं बटालियन को जिम्मेदारी दी गई है। जिसके इंचार्ज 2012 बैच के आईपीएस सचिंद्र पटेल को बनाया गया। इस बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि रैपिडएक्स और स्टेशन परिसर में शॉर्ट वीडियो बनाने आईपीसी और सीआरपीसी के उल्लंघन से जुड़ा मामला है, जिसके तहत ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पीएम मोदी करेंगे शुभारंभ

गौरतलब है कि रैपिडएक्स का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों होना है। इसके लिए साहिबाबाद में बड़े स्तर पर तैयारियां की जा रही है। पीएम मोदी नवरात्रि के दौरान 20 अक्टूबर को उद्घाटन कर सकते हैं, जिसे देखते हुए सुरक्षा को लेकर भी इंतजाम किए गए हैं। कार्यक्रम स्थल व आसपास के इलाके में 5 हजार जवानों को तैनात किया जा रहा है। इसके अलावा पूरे इलाके में सीसीटीवी और ड्रोन कैमरों के जरिए नजर रखी जाएगी। सुरक्षा व्यवस्था में एटीएस और आईबी के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

देश-विदेश