हार का डर: एक ही काम का बार बार भूमिपूजन कर रहे शिवराज के मंत्री

हार का डर: एक ही काम का बार बार भूमिपूजन कर रहे शिवराज के मंत्री

बौखलाई  मध्यप्रदेश बीजेपी में काम का श्रेय लेने की मची होड़

मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव नज़दीक है। काम और विकास के प्रति गंभीरता दर्शाने के लिए विधायकों मंत्रियो और नेताओ ने फीते काटने की अपनी रफ़्तार भी बढ़ा दी है । फीते काटने और भूमिपूजन करने के मामले में मध्यप्रदेश के अंदर नज़ारे बिलकुल अलग ही दिख रहे है।

आने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा इतनी भोखला गयी है की उनमे श्रेय लेने की अलग ही होड़ मची हुई है। जो काम पूर्ण नहीं हुए उनके लोकार्पण किये जा रहे हैं। वहीं, जिन निर्माण कार्यों के भूमिपूजन खुद से मुख्यमंत्री, मंत्री और प्रभारी मंत्री की मौजूदगी में कर चुके उनके भी  भूमिपूजन दोबारा कर रहे हैं। हद तो यह है कि जिन निर्माण कार्यों की स्वीकृति नहीं हुई, टेंडर प्रक्रिया चल रही है, उनके भूमिपूजन भी भाजपाई करने से नहीं चुक रहे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेन्द्र वशिष्ठ ने बताया कि मिशन नगरोदय अंतर्गत 303.62 लाख की लागत से देवास रोड़ स्थित तरणताल परिसर स्वीमिंग पुल के पुनर्निमाण कार्य का भूमिपूजन 17 मई 2022 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हो चुका है। इस दौरान प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा, मंत्री मोहन यादव, सांसद, विधायक, भाजपा के नगर अध्यक्ष भी मौजूद थे। बावजूद उसके इसका भूमिपूजन फिर से किया जा रहा है। वशिष्ठ ने कहा कि जिस तरह घोषणावीर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान घोषणाओं पर घोषणा कर रहें, जो पूरी होंगी के नहीं दूर-दूर तक पता नहीं उसी प्रकार स्वयं मुख्यमंत्री ने जिन कामों का भूमिपूजन कर दिया उनका फिर से भूमिपूजन हो रहा है।

एक काम के दो-दो, तीन-तीन बार भूमिपूजन किये जा रहे हैं। राजेन्द्र वशिष्ठ ने कहा कि इस मामले में निर्वाचन अधिकारी को शिकायत दर्ज कराते हुए इस मामले में संज्ञान लेने हेतु अनुरोध किया जाएगा।

देश-विदेश