आईएसआईएस के गिरफ्तार तीनों आतंकियों में 2 इंजीनियर तो एक कर रहा Phd, दिल्ली पुलिस का खुलासा

आईएसआईएस के गिरफ्तार तीनों आतंकियों में 2 इंजीनियर तो एक कर रहा Phd, दिल्ली पुलिस का खुलासा

अदालत ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को तीनों आतंकियों की दी 14 दिन की पुलिस हिरासत

नई दिल्ली।

आतंकवादी संगठन आईएसआईएस (ISIS ) मॉड्यूल से जुड़े मोहम्मद शाहनवाज उर्फ शफी उज्जमा और दो सहयोगी मोहम्मद रिजवान अशरफ और मोहम्मद अरशद वारसी की अच्छी शैक्षणिक प्रष्ठभूमि है, लेकिन उनकी कट्टरता ने उन्हें चरमपंथ से आतंकवाद तक पहुंचा दिया। आरोपी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुके हैं और इनमे से एक पीएचडी भी कर रहा है। दिल्ली की एक अदालत ने सोमवार सुबह दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को तीन आईएसआईएस आतंकियों की 14 दिन की पुलिस हिरासत दे दी है।

एनआईए की मोस्ट वांटेड लिस्ट में तीन लाख रूपए के इनामी मोहम्मद शाहनवाज को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने रविवार सुबह दक्षिण दिल्ली के जैतपुर से गिरफ्तार किया। मोहम्मद रिजवान अशरफ उत्तर प्रदेश के लखनऊ से और मोहम्मद अरशद वारसी को मुरादाबाद से गिरफ्तार किया गया।

शाहनवाज माइनिंग इंजीनियर

संदिग्ध आईएसआईएस आतंकवादी मोहम्मद शाहनवाज ने प्रतिष्ठित विश्वेश्वरैया प्रौद्योगिकी संस्थान से माइनिंग में इंजीनियरिंग की है। गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला माइनिंग इंजीनियर शाहनवाज की पत्नी बसंती पटेल ने इस्लाम धर्म अपना लिया था और अब उसे मरियम के नाम से जाना जाता है। दिल्ली पुलिस के सीनियर ने बताया, शाहनवाज विश्वेश्वरैया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से माइनिंग इंजीनियर है। शाहनवाज ने अपनी पत्नी बसंती पटेल का धर्म परिवर्तन करवाकर इस्लाम में कन्वर्टेड कराया था।

अरशद वारसी झारखंड का रहने वाला, जामिया से डॉक्टरेट की पढ़ाई

यूपी के मुरादाबाद से अरेस्ट अरशद वारसी झारखंड का रहने वाला है। उसने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से पढ़ाई की और अब दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया से डॉक्टरेट की पढ़ाई कर रहा है। मोहम्मद रिजवान अशरफ ने भी इंजीनियरिंग की है।

भारत के विभिन्न इलाकों की रेकी की थी

पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने पश्चिमी और दक्षिण भारत के विभिन्न इलाकों की रेकी की थी और वे पश्चिमी घाट क्षेत्र में अपना अड्डा बनाना चाहते थे। शाहनवाज को पुणे पुलिस ने 17-18 जुलाई की मध्यरात्रि को उस समय पकड़ा था जब वह पुणे के कोथरुड इलाके में एक मोटरसाइकिल चोरी करने की कोशिश कर रहा था। शाहनवाज पुणे पुलिस की हिरासत से भाग गया था और दिल्ली में रह रहा था और उस पर तीन लाख रुपये का इनाम घोषित था।

शाहनवाज के पास से विस्फोटक बनाने के उपकरण मिले

पुलिस ने बताया कि शाहनवाज के पास से विस्फोटक उपकरण बनाने में इस्तेमाल होने वाले एलिमेंट्री प्लास्टिक ट्यूब, लोहे के पाइप, विभिन्न प्रकार के रसायन, टाइमिंग उपकरण और एक पिस्तौल और कारतूस मिले हैं।

सीमा पार आकाओं के निर्देश पर आतंकी हमले को अंजाम देने का प्लान

बम बनाने से संबंधित जानकारी आरोपियों के सीमा पार आकाओं द्वारा भेजे जाने का संदेह है। जांच के दौरान यह पता चला कि एक विदेशी-आधारित हैंडलर ने संभवतः शाहनवाज को एक आतंकी हमले को अंजाम देने के निर्देश के साथ दो अन्य आतंकी गुर्गों के संपर्क में रखा था।

NIA ने पुणे ISIS मॉड्यूल मामले में शाहनवाज सहित चार आतंकियों की तस्वीरें जारी की थीं

पिछले महीने, एनआईए ने पुणे आईएसआईएस (इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया) मॉड्यूल मामले में वांछित शाहनवाज सहित चार आतंकी संदिग्धों की तस्वीरें जारी की थीं और उनके बारे में विश्वसनीय जानकारी देने के लिए प्रत्येक को 3 लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी। एजेंसी ने कहा था कि सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।

क्राइम देश-विदेश