अतुल्य भारत को दर्शाती अंतर विद्यालयी प्रतियोगिता ‘अभिव्यक्ति’ का किया गया आयोजन

अतुल्य भारत को दर्शाती अंतर विद्यालयी प्रतियोगिता ‘अभिव्यक्ति’ का किया गया आयोजन

प्रतियोगिता का उद्घाटन करतीं मुख्य अतिथि ओडिसी नृत्यांगना शेरॉन लोवेन

नई दिल्ली।

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल, सेक्टर 21-C में मंगलवार को ‘अतुल्य भारत’को दर्शाती, भारत की समृद्ध संस्कृति और इतिहास की गाथा सुनाती, एक अंतर विद्यालयी प्रतियोगिता‘अभिव्यक्ति’ का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में फरीदाबाद एवं आसपास के विभिन्न विद्यालयों के लगभग 70 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कक्षा के.जी. से लेकर कक्षा आठवीं तक के विद्यार्थियों ने भारत देश के प्रति अपने मन के भावों को नृत्य, गायन, वादन, चित्रकला और शिल्पकला के माध्यम से अभिव्यक्त किया। प्रतियोगिता की विभिन्न श्रेणियों और उपश्रेणियों में प्रतिभागियों ने भिन्न –भिन्न वाद्य यंत्रों, गीत, गज़ल, भजन, अर्ध शास्त्रीय और भारतीय शास्त्रीय नृत्य की सुंदर प्रस्तुति द्वारा सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

https://seniorjournalistimrankhan.blogspot.com/2023/09/ai.html

प्रतिभागियों ने चित्रकला और शिल्पकला के माध्यम से सुंदर रंगों और अपनी अनुपम कलाकृतियों से विद्यालय के प्रांगण को ‘छोटे भारत’ में परिवर्तित कर दिया। सुप्रसिद्ध ओडिसी नृत्यांगना शेरॉन लोवेन ने प्रतियोगिता की मुख्य अतिथि के रूप में कार्यक्रम की शोभा में चार चांद लगा दिए। उन्होंने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए मानव रचना 21-C के इस सुंदर आयोजन के लिए स्कूल की प्रधानाचार्या की सोच की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे ललित कलाओं का प्रचार-प्रसार होगा। इनसे छात्र इन कलाओं को अपनाने के लिए प्रेरित होंगे।। वे स्वयं को ‘अतुल्य भारत’ का अभिन्न अंग मानती हैं।

अपनी- अपनी कलाओं में पारंगत हमारे निर्णायक मंडल- राधिका मेनन, करण गंगनानी, नदीम खान, नील रंजन मुखर्जी, रॉजर विलियम और उदय शंकर ने छात्रों की भूरि-भूरि प्रशंसा की और अपनी कला को निखारने के लिए प्रोत्साहित किया। मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल, सेक्टर 21-C की प्रधानाचार्या सीमा अनीस ने निर्णायकों के प्रति अपना आभार व्यक्त किया और प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए उन्हें अभ्यास एवं रियाज़ करते रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने वहां उपस्थित सभी विद्यार्थियों से अपने देश के प्रति अपने प्रेम को और प्रगाढ़ करने एवं इसे ‘अतुलनीय भारत’ बनाने के लिए सदैव अग्रसर रहने की अपील की।

https://seniorjournalistimrankhan.blogspot.com/2023/09/2030.html

खेल शिक्षा