हाथी ब्रांड ने भारतीय घरों में 100 साल पूरे होने का मनाया जश्न

हाथी ब्रांड ने भारतीय घरों में 100 साल पूरे होने का मनाया जश्न

विनम्र शुरुआत से आइकॉनिक स्टेट्स तक: एक इंडियन ऑयल पायनियर की प्रेरक यात्रा

गुणवत्ता और विश्वास के साथ पीढ़ियों की सेवा: पूरे भारत में रसोई में हाथी ब्रांड की है स्थायी विरासत

नई दिल्ली।

19 अगस्त 2023 को, प्रसिद्ध भारतीय तेल कंपनी हाथी ब्रांड ने अपने 100 साल के सफर का जश्न मनाया, जिसने भारतीय घरों में बड़ा प्रभाव डाला है। 1912 में घनश्यामदास बैजनाथ तेल मिल्स के रूप में शुरूआत करने वाली यह कंपनी अपनी अच्छी गुणवत्ता, परंपराओं और आधुनिक कृषि के तरीकों के लिए जानी जाती है।

हाथी मस्टर्ड ऑयल के अध्यक्ष राघव भगत ने कंपनी के विकास पर गर्व व्यक्त किया। उन्होंने कहा, “जब हमने जीबी मार्का के रूप में शुरुआत की थी तब से लेकर अब हाथी ब्रांड के रूप में, हमारा मुख्य लक्ष्य हमेशा भारतीय परिवारों की मदद करना रहा है। हम सिर्फ तेल नहीं बनाते हैं, हम जीवन को बेहतर बनाते हैं।”

यह कहानी 1915 में शुरू हुई जब घनश्यामदास बैजनाथ ऑयल मिल्स ने जीबी मार्का नाम का उपयोग करना शुरू किया था। उन्होंने हमेशा सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले उत्पाद बनाने पर ध्यान केंद्रित किया। लंबे समय से ग्राहक रहे कोमल सिंह ने कहा, “हाथी ब्रांड हमेशा से मेरे परिवार की रसोई में रहा है। उनके उत्पाद सबसे अच्छे हैं, और हम उन पर भरोसा करते हैं। यह सिर्फ तेल नहीं है, यह एक परंपरा है।”

1930 के दशक में, कंपनी ने अपना नाम बदलकर बंसीधर प्रेमसुखदास ऑयल मिल्स कर लिया और प्रसिद्ध “हाथी” लोगो पंजीकृत कराया, जिसका अर्थ है ताकत, विश्वास और प्रगति। 1940 के दशक तक, बी पी ऑयल मिल्स भारत की सबसे बड़ी तेल मिल बन चुकी थी। उनके डिपो बांगलादेश से पाकिस्तान तक कई जगहों पर फैले हुए थे, जिससे सभी लोग उनके उत्पादों का आनंद ले सकते थे।

भारतीय उद्योग इतिहास के विशेषज्ञ महेंद्र मेहरोत्रा ने कहा, “हाथी ब्रांड की यात्रा से पता चलता है कि भारतीय व्यवसाय कैसे चलते रह सकते हैं। यह भारत के विकास की कहानी की तरह है।”

1965 में, बी पी ऑयल मिल्स लिमिटेड कंपनी अधिनियम 1956 के तहत उद्योग में अपना नेतृत्व दिखाते हुए एक बड़ा निगम बन गई। 1990 के दशक में, वे भारत में “कच्ची घानी” सरसों के तेल के सबसे बड़े निर्माता बन गए, जो अपनी गुणवत्ता और नए विचारों के लिए जाने जाते हैं। 2000 के दशक तक, हर कोई उनका नाम जानता था, जिससे पता चलता है कि भारतीय परिवार उनके उत्पादों को कितना पसंद करते थे।

अब, हाथी ब्रांड के रूप में, उन्हें अभी भी बेहतरीन उत्पादों के साथ भारतीय परिवारों की मदद करने की चिंता हैं। उनका 100 साल का सफर, सभी चुनौतियों और कठिन मेहनत के साथ उन्हें आगे बढ़ने और आधुनिक खेती के तरीकों के लिए तैयार करता है। जिससे वे भारतीय घरों को स्वादिष्ट और बेहतर बनाने का काम करते रहें।

व्यापार