राजस्थान मे बहुजन समाज पर अत्याचार और उनके अधिकारों से वंचित रखना कांग्रेस की जातिवादी मानसिकता का सबूत: आकाश आनंद, बसपा

राजस्थान मे बहुजन समाज पर अत्याचार और उनके अधिकारों से वंचित रखना कांग्रेस की जातिवादी मानसिकता का सबूत: आकाश आनंद, बसपा

मनुवादी आकाओं के इशारे पर पल रहे चमचों से बहुजन समाज को सावधान रहने की जरूरत

कांग्रेस की चार साल की नाकामियों पर प्रहार के साथ बसपा की ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय संकल्प यात्रा’ का जयपुर में समापन

100 विधानसभा से होकर गुज़री रथयात्रा

राजस्थान में बढ़ा महिलाओं के खिलाफ अपराध का दर

जयपुर।

शहीद स्मारक, जयपुर में ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय संकल्प यात्रा’ का मंगलवार को समापन हो गया। इस यात्रा ने बसपा के शीर्ष नेताओं, समर्पित सामाजिक कार्यकर्ताओं और उत्साही पार्टी समर्थकों को एकजुट किया। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष बहन कुमारी मायावती के आह्वान से प्रेरित 3500 किलोमीटर लंबी सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय संकल्प यात्रा 16 अगस्त को धौलपुर से शुरू हुई थी।

बसपा ने राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव में पूरी ताकत झोंकने का मन बना लिया है। वह सभी 200 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है। अब तक पांच उम्मीदवारों की आधिकारिक घोषणा हो चुकी है।  इनमें धौलपुर, करौली, जुनून और झुंझुनू की खेतड़ी विधानसभा हैं।

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के राष्ट्रीय समन्वयक श्री आकाश आनंद के नेतृत्व में निर्देशित, ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय संकल्प यात्रा’ बहुजन समाज के लिए समग्र कल्याण और समृद्धि की बात करते हुए विभिन्न ज़िलों में पहुंची।

यात्रा के अंतिम दिन श्री आकाश आनंद का भावपूर्ण संबोधन हुआ। उन्होंने अन्याय, गरीबी, अपराध, महँगाई और बेरोजगारी के खिलाफ एकजुट होने के लिए राजस्थान के लोगों का आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कांग्रेस सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए कहा, “चार साल के कार्यकाल में लाखों युवाओं को बेरोजगारी का सामना करना पड़ा है। उनके लिए नौकरी के कोई अवसर पैदा नहीं किया गया , माताओं और बहनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में राज्य सरकार पूरी तरह से विफल रही है। जो सरकार हमारी बहन-बेटियों की रक्षा न कर सके उसे गद्दी पर बैठने का कोई हक़ नहीं। जातिवादी मानसिकता इनके खून में दौड़ती है। इसी मानसिकता ने हमारे बहुजन समाज के बच्चों को अशिक्षित रखा है।

सरकारी आंकड़े बताते हैं कि बहुजन समाज के 60% बच्चों को बुनियादी शिक्षा की कोई सुविधा मुहैय्या नहीं करवाई गई है। 70% स्कूलों में आज भी बिजली की व्यवस्था नहीं है। साज़िश के तहत राजस्थान में हमारे बच्चों को अशिक्षित रखा जा रहा है ताकि उन्हें कमज़ोर रखा जाए और शोषित किया जाए। अब समय आ गया है कि समतामूलक समाज की नींव जो हमारे गुरुजनों और महापुरुषों ने रखी उसको आगे बढ़ाया जाए।”

केंद्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथे लेते हुए श्री आकाश आनंद ने कहा, “केंद्र सरकार ने वादा किया था कि किसानों की आय दुगनी की जाएगी मगर हक़ीक़त तो ये है कि हमारे किसान भाइयों की आय दिन-ब-दिन घटती जा रही है। 2022 तक ग़रीबों को घर देने का वादा भी सिर्फ़ एक जुमला निकला। अच्छे दिन का वादा कर देश की जनता को ग़रीबी, बेरोज़गारी और महँगाई की आग में झोंककर सरकार चैन की नींद सो रही है। ये अन्याय नहीं तो और क्या है? युवाओं को 2 करोड़ नौकरियों का वादा किया गया था मगर आज हालात ये हैं कि पहले के मुक़ाबले आज 12 करोड़ नौकरियां कम हैं।”

श्री आनंद कुमार, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, बीएसपी , श्री रामजी गौतम, सांसद, राज्य सभा और श्री डॉ. अशोक सिद्धार्थ, पूर्व सांसद राज्यसभा, ने कार्यक्रम में उत्साह बढ़ाया। श्री रामजी गौतम ने इस बात पर जोर दिया कि बहुजन समाज पार्टी सिर्फ एक राजनीतिक इकाई नहीं है, बल्कि एक आंदोलन है, जो सदियों की उपेक्षा के बाद देश को सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक, शैक्षिक और सामाजिक जागरूकता की ओर ले जाने का प्रयास कर रहा है।

डॉ. अशोक सिद्धार्थ ने पिछले चार वर्षों के प्रदर्शन की समीक्षा करते हुए कांग्रेस प्रशासन पर निशाना साधा। उन्होंने गहलोत सरकार को घेरते हुए बोला कि स्वच्छ जल प्रदान करने और चिकित्सा सुविधाओं में सुधार करने में राज्य ने कोई प्रगति नहीं की है। उन्होंने राज्य की महिला आबादी के लिए अपर्याप्त सुरक्षा पर प्रकाश डाला और केवल पांच वर्षों के भीतर महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के एक लाख से अधिक मामलों का खुलासा किया। इस संकट के प्रति सरकार की स्पष्ट उदासीनता ने उसकी विफलताओं को और अधिक उजागर कर दिया है।

‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय संकल्प यात्रा’ न केवल एक कार्यक्रम के रूप में बल्कि परिवर्तन के आह्वान के रूप में, कांग्रेस सरकार की कमियों के खिलाफ मजबूती से खड़े होने और एक उज्जवल, सुरक्षित और अधिक समृद्ध राजस्थान की वकालत के रूप में संपन्न हुई।

पॉलिटिक्स