नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास: विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय बने

नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास: विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय बने

40 साल के इतिहास में पहली बार किसी भारतीय ने जीता सोना

नई दिल्ली।

भारतीय जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रविवार देर रात इतिहास रच दिया। वह वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय एथलीट बन गए हैं। हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट के नेशनल एथलेटिक्स सेंटर में नीरज ने 88.17 मीटर के थ्रो के साथ गोल्ड मेडल पर निशाना साधा। 25 साल के नीरज ने पिछले साल यूजीन में हुई वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था जिसे उन्होंने इस बार गोल्ड में बदला।

बता दें कि फाइनल में कुछ 6 अटेम्प्ट यानि राउंड होते हैं और नीरज ने दूसरे राउंड में 88.17 मीटर का थ्रो कर दिया था। इसके बाद से ही वह अंक तालिका में लीड बनाए हुए थे और अंत तक यह लीड कायम रही। यह चैंपियनशिप 1983 से हो रही है और वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में यह भारत का ओवरऑल तीसरा मेडल है। नीरज की एतिहासिक जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई देते हुए कहा, ‘प्रतिभाशाली नीरज ने अपना सर्वश्रेष्ठ दिखाया है। उनका समर्पण, सटीकता और जुनून, उन्हें न सिर्फ एथलेटिक्स में चैंपियन बनाता है, बल्कि पूरे खेल जगत में उन्हें उत्कृष्टता का प्रतीक बनाता है।’ गौरतलब है कि नीरज को अपने खेल की वजह से 2018 में अर्जुन अवार्ड, 2021 में मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार और 2022 में पद्मश्री अवार्ड से नवाजा जा चुका है।

विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पहला स्वर्ण पदक

ओलंपिक, एशियाई खेल, राष्ट्रमंडल खेल और डायमंड लीग में चैंपियन बनने वाला यह खिलाड़ी इस टूर्नामेंट से पहले सिर्फ विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में ही स्वर्ण नहीं जीत पाया था, लेकिन अब उनकी झोली में इसका स्वर्ण पदक भी है। नीरज के छह अटेम्प्ट फाउल, 88.17 मीटर, 86.32 मीटर, 84.64 मीटर, 87.73 मीटर और 83.98 मीटर के रहे। पाकिस्तान के अरशद नदीम ने 87.82 मीटर के थ्रो के साथ सिल्वर जीता। वहीं चेक रिपब्लिक के जाकुब वेदलेच ने 86.67 मीटर के बेस्ट थ्रो के साथ ब्रांज मेडल पर निशाना साधा। नीरज के साथ फाइनल में भारत के दो अन्य खिलाड़ी डीपी मनु और किशोर जेना भी थे। किशोर 84.77 मीटर के बेस्ट थ्रो के साथ पांचवें स्थान पर और डीपी मनु 84.14 मीटर के बेस्ट थ्रो के साथ छठे स्थान पर रहे।

क्वालिफाइंग राउंड में 88.77 मीटर दूर फेंका था भाला

नीरज ने शुक्रवार को क्वालिफाइंग दौर में अपने पहले ही प्रयास में 88.77 मीटर भाला फेंककर फाइनल में प्रवेश कर लिया था। वह इस प्रदर्शन के साथ अगले साल पेरिस में होने वाले ओलंपिक के लिए भी क्वालिफाई करने में सफल रहे। यह सत्र का उनका अब तक का और कुल चौथा श्रेष्ठ प्रदर्शन भी रहा था।

पिछली बार जीता था सिल्वर मेडल

पिछली बार नीरज ने विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक हासिल किया था। 25 साल के भारतीय स्टार एथलीट ने टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था। वह 2018 में एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहे। उन्होंने पिछले साल डायमंड लीग भी गोल्ड जीता था।

खेल देश-विदेश