पुरानी पेंशन बहाली की मांग: तेज बारिश में भी कर्मचारियों ने जंतर मंतर पर लगाए नारे, सरकार को दी चेतावनी

पुरानी पेंशन बहाली की मांग: तेज बारिश में भी कर्मचारियों ने जंतर मंतर पर लगाए नारे, सरकार को दी चेतावनी

नई दिल्ली।

पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर दिल्ली और केंद्र शासित राज्यों के कर्मचारियों के संगठन ने जंतर मंतर पर तेज बारिश में भी सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाजी की और चेतावनी दी। भयंकर बारिश में भी जंतर मंतर पर हजारों सरकारी कर्मचारी डटे रहे और प्रधानमंत्री मोदी जी से पुरानी पेंशन बहाली की मांग करते हुए सरकार को चेताया।

पुरानी पेंशन की बहाली की मांग को लेकर डॉ. मंजीत सिंह पटेल के आवाह्न पर ये धरना जंतर मंतर पर दिया जा रहा है। जंतर-मंतर पर हुए इस आंदोलन में दिल्ली के तकरीबन 50 कर्मचारी संगठन शामिल हुए हैं, जिनमें दिल्ली नर्सेज फेडरेशन सेंट्रल गवर्नमेंट, हॉस्पिटल्स नर्सेज फेडरेशन के साथ-साथ दिल्ली के तमाम शिक्षक संगठन भी शामिल रहे। धरने के दौरान सरकार को चेतावनी दी गई है कि अगर पुरानी पेंशन जल्द बहाल नहीं की जाती तो लोकसभा चुनाव 2024 में सरकारी कर्मचारी अपने परिवारों के साथ वोट फॉर ओपीएस कैंपेन चलाएंगे।

आंदोलन में प्रमुख रूप से लीलाधर रामचंदानी, जितेंद्र रामचंद्र मोगा, नवीन जाट, सुधीर, रूप जी, प्रदीप डागर, कुलदीप खत्री, आकिल अख्तर, दिलीप कुमार, विनोद यादव, कुलदीप काद्यान, सतेंद्र नागर, बीसी शर्मा, ऋषिपाल तोमर, इंटक नेता सत्यव्रत पुनिया, बाबूराम तोमर, दलबीर राठी, योगेश अहलावत आदि नेता मौजूद रहे। कार्यक्रम का आयोजन इंडियन रेलवे मूवमेंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम के नेता राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशांत पन्ना और उनकी टीम के द्वारा किया गया। डॉ. मनजीत सिंह पटेल ने कहा की भारत सरकार को 2 महीने का अल्टीमेटम दिया जाता है कि वह तत्काल प्रभाव से देश के सभी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन बहाल करें नहीं तो उनका अगला कदम संसद का मार्च होगा।

देश-विदेश