टेबल टेनिस में सुतिर्था-अयहिका ने रचा इतिहास, इस साल पहला डब्ल्यूटीटी कंटेंडर जीता

टेबल टेनिस में सुतिर्था-अयहिका ने रचा इतिहास, इस साल पहला डब्ल्यूटीटी कंटेंडर जीता

विमेंस डबल्स के फाइनल में जापानी जोड़ी को हराया

नई दिल्ली।

भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी सुतिर्था मुखर्जी और अयहिका मुखर्जी ने वर्ल्ड टेबल टेनिस कंटेंडर की विमेंस डबल्स कैटेगरी का खिताब अपने नाम कर लिया है। उन्होंने जापान की मियु किहारा और मिवा हारीमोटो को करारी शिकस्त दी। जापानी जोड़ी को 3-1 (11-5,11-6, 5-11,13-11) से हराकर खिताब जीता। भारतीय जोड़ी का ये इस साल का पहला डब्ल्यूटीटी कंटेंडर है। भारतीय जोड़ी ने पहली बार इस टूर्नामेंट की विमेंस डबल कैटेगरी का खिताब जीता है। फाइनल मैच में भारतीय जोड़ी ने लगातार 2 गेम जीतकर मुकाबले में 2-0 की बढ़त ले ली। वहीं इसके बाद जापानी जोड़ी ने तीसरा गेम 11-5 से जीतकर स्कोर 2-1 कर दिया। इसके बाद भारतीय जोड़ी ने चौथा गेम 13-11 से जीतकर खिताब अपने नाम कर लिया।

सेमीफाइनल में नंबर-1 सीड को हराया

सुतिर्था-अयहिका की जोड़ी ने सेमीफाइनल में नंबर-1 सीड शिन युबिन और जियोन जिही की कोरियाई जोड़ी को 3-2 (7-11 11-9 11-9 7-11 11-9) से हराया था।

मिक्सड और मेंस डब्ल्स में चुनौती खत्म

मिक्स्ड डबल्स कैटेगरी में मनिका बत्रा और जी साथियान की भारतीय जोड़ी के अलावा मानव ठक्कर और मानुष शाह की पुरुष युगल जोड़ी को सेमीफाइनल मैच में हार का सामना करना पड़ा। वहीं इससे पहले बत्रा और साथियन की जोड़ी ने क्वार्टरफाइनल में सेड्रिक मीस्नर और युआन वान की जर्मन जोड़ी को एकतरफा मैच में 3-0 से शिकस्त दी थी।

मेंस-विमेंस सिंगल्स में कोई इंडियन नहीं

मेंस सिंगल्स में अचंता सरथ कमल और साथियान पहले दौर में ही टूर्नामेंट से बाहर हो गए थे। विमेंस सिंगल्स में भी भारत का कैंपेन खत्म हो गया, क्योंकि अयहिका मुखर्जी को राउंड-16 में जापान की मियू नागासाकी ने 3-0 से हरा दिया। बत्रा, श्रीजा अकुला और दीया चितले पहले राउंड से आगे नहीं बढ़ पाए। मेंस सिंगल्स में हरमीत देसाई को शुक्रवार को प्री-क्वार्टर फाइनल में चीन के लियांग यानिंग ने 3-0 से हरा दिया था।

खेल