हौजखास में डीटीसी की इलेक्ट्रिक बस बनी आग का गोला, चंद मिनट में हुई राख

दिल्ली के हौजखास में डीटीसी की इलेक्ट्रिक बस बनी आग का गोला, चंद मिनट में हुई राख

नई दिल्ली।

दिल्ली के हौजखास में रविवार को डीटीसी की इलेक्ट्रिक बस में आग लग गई, जिसमें बस जलकर राख हो गई। गनीमत रही कि घटना से पहले ही सभी यात्रियों को उतारा जा चुका था, वरना कोई बड़ा हादसा हो सकता था।

सूचना पर पहुंची दमकल विभाग की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। जानकारी के अनुसार, बुराड़ी डिपो की यह बस सुबह करीब 11 बजे रूट नंबर 502 पर जा रही थी। महरौली से यह बस जब हौजखास के पद्मिनी एंक्लेव के पास मुख्य मार्ग पर पहुंची तो एसी ने काम करना बंद कर दिया। इस वजह से ड्राइवर ने आईआईटी गेट पर यात्रियों को बस से उतार दिया और एसी खराब होने की शिकायत डिपो में दर्ज कराई। आईआईटी गेट से कुछ ही दूर स्टॉप के पास पहुंचते ही बस में धुआं उठने लगा। चालक जब तक कुछ समझ पाता बस से आग की लपटें निकलने लगीं और इसने विकराल रूप ले लिया। विभागीय अधिकारियों के अनुसार प्रथम दृष्टया आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। जांच के बाद ही पूरी जानकारी मिल सकेगी।

गुणवत्ता पर सवाल उठे

डीटीसी की इलेक्ट्रिक बसों की आपूर्ति बीते साल सर्दियों में हुई थी। उनका संचालन शुरू होने के बाद गर्मी का यह पहला सीजन है। डीटीसी कर्मचारी यूनियन ने बसों की गुणवत्ता पर सवाल उठाए हैं। संविदा कर्मचारी नेता मनोज शर्मा ने आरोप लगाया कि बसों की मेंटिनेंस समय पर नहीं की जा रही है और इनमें नकली कलपुर्जे डाले जा रहे हैं।

बता दें कि राजधानी में बसों की खराबी एक बड़ी समस्या बनकर सामने आ रही है। दिल्ली में लगातार सड़कों पर बसों के खराब होने से जाम की समस्या रहती है। इसका एक बड़ा कारण डीटीसी एवं क्लस्टर के बेड़े में पुरानी बसों का होना है। इनमें से काफी बसें अपनी आयु पुरी कर चुकी हैं। इन बसों को जल्दी से सड़क किनारे भी नहीं किया जा सकता। बसों को मौके से हटाने या ठीक करने में कई बार एक घंटे तक का समय लग जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *