“फूली” एक बच्ची और जादूगर की प्यारी कहानी , शिक्षा के महत्व पर करती हैं संवाद

नई दिल्ली।

हमारे देश और समाज मे बेशुमार ऐसी सच्ची कहानियां हैं जिनसे प्रेरित होकर सिनेमा बनाया जाता रहा है और दर्शक ऐसी फिल्मों को सराहते भी आए हैं।अभिनेता व निर्देशक अविनाश ध्यानी की अपकमिंग फ़िल्म “फूली” भी सच्ची कहानी पर आधारित एक मार्मिक फ़िल्म है जिसका दमदार ट्रेलर ज़ी म्युज़िक द्वारा जारी कर दिया गया है, जिसे काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। फ़िल्म के प्रमोशन के लिए अभिनेता और निर्देशक अविनाश ध्यानी, रिया बलोनी निर्माता मनीष कुमार और सह निर्माता संजय अग्रवाल राजधानी दिल्ली में मीडिया को संबोधित किया ।

फ़िल्म का ट्रेलर बहुत ही खूबसूरत वादियों के बैकड्रोप पर शुरू होता हैं “यह कहानी है फूली की जो पहाड़ों पे रहती थी, पढ़ना चाहती थी लिखना चाहती थी आगे बढ़ना चाहती थी। मगर हालात उसे यह सब करने से रोक रहे थे।”

फूली एक 14 साल की होनहार बच्ची है, जो शिक्षा प्राप्त करना चाहती है, मगर परिस्थितियाँ उसके विपरीत हैं, उसके पिता शराब की लत के शिकार हैं। जब उसका मनोबल कम होता है तो उसकी जिंदगी में एक जादूगर आता है जो उसे समझाता है कि “कोई किसी की ज़िंदगी मे जादू नहीं करता वो जादू तुम्हे खुद करना पड़ेगा अपनी ज़िंदगी मे।” फूली किस तरह जादूगर की कही बातों को समझती है और अपने जीवन में उतारती है, यह पिक्चर इसी पर आधारित है।

फिल्म में फूली के किरदार के माध्यम से निर्देशक अविनाश ध्यानी ने, पहाड़ों में रहने वाली हर लड़की हर महिला की जिंदगी के सच को दर्शाया है। इस सिनेमा के फिल्मांकन के दौरान वो लगभग 8 महीनों तक तिमली गांव,(पौड़ी जिला) में रहे, और इस फिल्म को बनाते रहे। अविनाश ध्यानी ने कई फिल्में बनाई हैं मगर उन्हें अपनी सभी फिल्मों में से फूली उनके सबसे ज्यादा दिल के करीब है क्योंकि फूली यथार्थ के बहुत नजदीक है। फूली फिल्म की कहानी गढ़ने में उन्होंने पहाड़ की कई महिलाओं के जीवन से प्रेरणा ली है, जिसमें उनकी माँ भी शामिल हैं, पहाड़ को करीब से जानने और समझने के कारण उन्हें लगा कि ये एक ऐसी यूनिवर्सल कहानी है जो सिर्फ पहाड़ों तक सीमित रहने के लिए नहीं है, इसे देशभर में और दुनिया भर के दर्शकों तक पहुँचना चाहिए।

फ़िल्म मेकर अविनाश ध्यानी का कहना है कि फूली, ऐसा सिनेमा है जिसे देखकर आप कुछ सीख कर जाते हैं। भले ही फूली एक बच्ची की कहानी है पर वो जीवन के कई ऐसे पड़ावों पर प्रकाश डालती है जिनसे हर इंसान, कभी न कभी, किसी ना किसी उम्र में गुजरता है और एक प्रेरणा पाता है। ये फिल्म सभी के लिए है और सभी तक पहुँचनी जरुरी है। फिल्म 7 जून को सिनेमाघरों में आ रही है।

पद्मा सिद्धि फिल्म्स के बैनर तले बनी फिल्म फूली में अविनाश ध्यानी, सुरुचि सकलानी, नवोदित रिया बलोनी, प्रिंस जुएल, निधि बलोनी इत्यादि ने अभिनय किया है। मनीष कुमार, अविनाश ध्यानी, ललित जिंदल, राजीव शर्मा, मनोज कुमार सिंह द्वारा निर्मित फ़िल्म के सह निर्माता संजय अग्रवाल, रविन्द्र भट्ट, मोहित त्यागी और स्मृति हरि हैं। अल्का याग्निक, नक्काश अज़ीज़, राजा हसन और ध्रुव कुमोला जैसे सिंगर्स की आवाज में कुछ दिल को छू लेने वाले गीत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *